Google Adsense Approve Kaise Kare? – 17 Best Tips

Google Adsense Approve Kaise Kare? – 17 Best Tips

हेलो दोस्तों! अगर आपने भी अपनी कोई वेबसाइट या ब्लॉग बना लिया हैं तो अब आपको इंतज़ार होगा Google Adsense के Approval का या आप पहले से ही एडसेंस अप्रूवल के कोशिश कर रहे है लेकिन आपको अभी तक अप्रूवल नहीं मिला है। तो आप ये आर्टिकल जरूर पढ़े।

आज इस पोस्ट मे मैं आपको एडसेंस Approve कराने की ऐसी 17 Best Tricks शेयर करने जा रहा हूँ जिससे आप 100% Adsense का अप्रूवल पा सकते हो।

इन ट्रिक्स को फॉलो करके ही मैंने अपने अन्य blogs पर एडसेंस अप्रूवल पाया हैं। इसी वजह से मुझे कुछ ऐसे facts पता चले हैं जिनके कारण आपको भी Adsens का Approval जल्दी ही मिल जायेगा।

तो आईये जानते हैं Google Adsense Approve Kaise Kare?

Google Adsense Approve Kaise Kare – 17 Best Tips

1- आपकी उम्र (age) 18+ होनी चाहिए :

एडसेंस का अकाउंट बनाने के लिए आपकी age 18 वर्ष होने चाहिए। इससे कम होने पर आप एडसेंस अकाउंट नहीं बना पाएंगे। ऐसा न होने पर आप अपने घर के किसी 18+ age वाले अन्य सदस्य के नाम से भी एडसेंस अकाउंट बना सकते हैं।

यहाँ पर ध्यान देने वाली बात ये हैं कि एडसेंस payment लेने के लिए बैंक अकाउंट भी उसी सदस्य के नाम होना चाहिए। यानि कि आपको एडसेंस में सारी details उसी member की ही भरनी होगी।

2- Custome Domain: 

Custom Domain पर एडसेंस का approval जल्दी मिलता हैं और ये Custom Domain भी TLD (Top Level Domain) होना चाहिए जैसे .com, .org, .net, आदि।

इससे आपके ब्लॉग की ranking भी बढ़ेगी और Google Adsense द्वारा आपको non hosted अकाउंट दिया जायेगा वो भी fully approved, जिससे एडसेंस द्वारा आपको 68% revenue मिलेगा।

3- Theme Design and Colour:

# Design and colour:

आपके ब्लॉग की theme की डिज़ाइन बिलकुल simple होनी चाहिए और background color भी white होना चाहिए क्यूंकि गूगल को ऐसी ही theme ज्यादा पसंद आती हैं।

ऐसी theme पर एडसेंस का अप्रूवल भी जल्दी ही मिल जाता हैं। इसलिए अपने ब्लॉग के लिए colorful templete या theme का यूज़ न करें।

# Resopnsive theme:

आजकल ज्यादातर यूजर मोबाइल में ही ब्लॉग पड़ना पसंद करते हैं। इसलिए ये जरुरी हैं कि आपके ब्लॉग में fully responsive theme होनी चाहिए ताकि वो theme मोबाइल की हर छोटी बड़ी स्क्रीन के हिसाब से adjust होकर ओपन हो सके। इसलिए आप अपने ब्लॉग के लिए responsive theme ही सेलेक्ट करें।

4- Fully customize theme:

Adsense apply करने से पहले आपको अपने ब्लॉग की theme/template को पूरी तरह से कस्टमाइज करना होगा। मतलब आपको अपनी जरुरत के हिसाब से menu, social media links, logo, sidebar, author profile आदि को कस्टमाइज करना होगा।

इसके अलावा ब्लॉग की theme काफी lightweight होनी चाहिए यानि उसका loading टाइम भी कम से कम हो। इसलिए जब भी theme डाउनलोड करें तभी ये सारी बातें detail से चेक कर लेनी चाहिए।

5- Proper navigation in menu and pages:

ब्लॉग की theme को इस तरह से कस्टमाइज करें कि Menu और Pages के अंदर proper नेविगेशन हो पाये ताकि यूजर को एक पोस्ट से दूसरी पोस्ट में जाने में confusion न हो।

अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो गूगल आपकी एप्लीकेशन को “under construction” का reason बताकर रिजेक्ट कर देगा।

इसलिए एडसेंस को apply करने से पहले ब्लॉग के प्रत्येक पार्ट को अच्छे से चेक कर ले कि कही उसमे कोई कमी तो नहीं हैं।

6- Create important pages:

आपको अपने ब्लॉग के कुछ important pages बनाने होंगे जैसे – Privacy policy, About us, Contact us, Disclaimer आदि। privacy policy वाले पेज में आपको अपने ब्लॉग की privacy और policy के बारे में अच्छे से विस्तार से बताना हैं कि आप अपने ब्लॉग पे किस तरह के आर्टिकल लिखेंगे और यूजर को आपके ब्लॉग से क्या जानकारी प्राप्त होगी।

About us पेज में आपको अपने ब्लॉग के बारे में बताना होगा कि ताकि यूजर आपके ब्लॉग के बारे में जान सके कि आप कौन हैं और क्या करते हैं।

Contact us पेज में अपने ब्लॉग के लिए एक contect form बनाना हैं ताकि उसीर आपसे contact कर सके। इसके अलावा आप अपना एक ईमेल एड्रेस भी दे सकते हैं।

7- अपने ब्लॉग को google webmaster & analytics tool में submit करें:

अपने ब्लॉग को google webmaster में submit करके वेरीफाई जरूर कराये ताकि गूगल आपके ब्लॉग के बारे में जान सके क्यूंकि गूगल को आपके ब्लॉग पोस्ट के बारे में google webmaster tool के द्वारा ही पता चलता है। गूगल वेबमास्टर आपके ब्लॉग का एक तरह से controlar, doctor और adviser भी होता हैं।

इसके अलावा आप google analytics पे भी अपने ब्लॉग को जरूर सबमिट करें। यहाँ से आप ब्लॉग के ट्रैफिक के बारे में कम्पलीट जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

8- Submit sitemap:

google webmaster में ब्लॉग को submit करके वेरीफाई करने के बाद आपको ब्लॉग का sitemap जरूर submit करना होगा ताकि आपके ब्लॉग की पोस्ट गूगल में index हो सके और जब आप एडसेंस के लिए apply करेंगे तब गूगल आपके ब्लॉग का अच्छे से review कर सके और ये पता लगा सके कि आपके ब्लॉग पोस्ट में कोई duplicate content तो नहीं हैं।

9- Don’t use copyright images:

आपको अपने ब्लॉग में कभी भी copyrighted images का यूज़ नहीं करना हैं। आप हमेशा अपनी बनायीं हुई images ही अपने आर्टिकल में यूज़ करें।

वैसे आप चाहे तो गूगल से copyright free images भी डाउनलोड कर सकते हैं। इसके लिए आप ये पोस्ट जरूर पढ़े :

Copyright Free Image Download कैसे करें, how to download copyright free image, copyright free images, cco image download method
गूगल से copyright free images डाउनलोड कैसे करें ?

गूगल से copyright free images डाउनलोड कैसे करें ?

10- ब्लॉग पोस्ट में ज्यादा images और videos यूज़ न करें:

अगर आप ब्लॉग में ज्यादा images या videos यूज़ करेंगे तो गूगल आपको कभी भी एडसेंस का अप्रूवल नहीं देगा। इसलिए अपने ब्लॉग पोस्ट में 2 या 3 images ही यूज़ करें।

एक और जरुरी बात ये कि जब आप आर्टिकल में images का यूज़ करते है तो वो HTML Code में ही मानी जाती हैं। इसलिए आप हमेशा इस बात का ध्यान रखे कि आपके पोस्ट में HTML Code की तुलना में text कंटेंट ज्यादा होना चाहिए फिर चाहे आर्टिकल कितना भी बड़ा क्यों न हो।

11- Orignal and high quality content:

आपको हमेशा अपने ब्लॉग पे original content ही लिखना चाहिए। original content का मतलब आप खुद अपना ही कंटेंट create करें, कहीं से भी copy न करें क्यूंकि ऐसे डुप्लीकेट कंटेंट को गूगल आसानी से ट्रैक कर लेता है।

डुप्लीकेट कंटेंट वाले ब्लॉग को एडसेंस का अप्रूवल कभी भी नहीं मिल पाता हैं क्यूंकि ये एडसेंस की पॉलिसी के खिलाफ हैं। ऐसी स्थिति में कभी कभी तो गूगल ऐसी वेबसाइट या ब्लॉग को ब्लॉक भी कर देता हैं और एडसेंस अकाउंट भी suspend कर देता हैं।

एक और बात कि आपकी ब्लॉग पोस्ट कम से कम 600 words की होनी चाहिए। इससे ज्यादा होगी तो और भी अच्छा हैं क्यूंकि long आर्टिकल के गूगल में रैंक होने के ज्यादा चांस होते हैं।

12- आपका ब्लॉग गूगल द्वारा support की जाने language में ही होना चाहिए:

गूगल उन्हीं ब्लॉग को अप्रूवल देता हैं जो गूगल एडसेंस द्वारा support की जाने वाली 45 भाषाओं में से किसी में भी हो। गूगल एडसेंस द्वारा सपोर्ट की जाने वाली 45 भाषाएं कौनसी हैं जानने के लिए आप इस लिंक को फॉलो करें :

Google Adsense Supported languages

13- Don’t use other advertise Ad networks:

यदि आप अपने ब्लॉग पर पहले से ही अन्य Ad network यूज़ कर रहे हैं तो एडसेंस के लिए apply करने से पहले आपको अपने ब्लॉग से उन सभी ad networks के ad हटाने होंगे। इसके बाद ही एडसेंस के लिए अप्लाई करें।

14- ब्लॉग पे पर्याप्त (sufficient) articles होने चाहिए:

आप एडसेंस के लिए apply तभी करें जब आपके ब्लॉग पे कम से कम 20 से 25 ओरिजनल हाई क्वॉलिटी कंटेंट हो क्यूंकि इसे गूगल आपके वेबसाइट या ब्लॉग का review अच्छे से कर पायेगा और आपको एडसेंस का अप्रूवल भी जल्दी मिलेगा।

यदि आप कम आर्टिकल में ही एडसेंस के लिए apply कर देंगे तो वहां आपको “insufficient contant” वाला मैसेज देकर आपकी एप्लीकेशन को रिजेक्ट कर दिया जायेगा।

15- ब्लॉग में बिना मतलब के widget यूज़ न करें :

Unwanted Widgets, स्पेशल फीचर्स होते हैं। ये दिखने में तो सुन्दर होते हैं पर इनको ब्लॉग या वेबसाइट में लगाने से ब्लॉग की स्पीड slow हो जाती हैं। इसलिए आप जरुरी widgets ही यूज़ करें अपने ब्लॉग में ताकि आपको एडसेंस का अप्रूवल आसानी से मिल सके।

16- Adsense apply करने के बाद अपने ब्लॉग में लगातार changes न करें :

आपको इस बात का खास ध्यान रखना है कि जब आप एडसेंस के लिए apply कर देते हो तो उसके बाद अपने ब्लॉग में कुछ भी changes न करें क्यूंकि apply करने के बाद गूगल कभी भी आपके ब्लॉग का review कर सकता हैं।

ऐसे में आपका ब्लॉग उसे ready मिलना चाहिए। इस दौरान यदि आप अपने ब्लॉग में रेगुलर changes करते हो तो गूगल आपके ब्लॉग का अच्छे से review नहीं कर पायेगा और फिर आपका application इस मैसेज के साथ रिजेक्ट कर दिया जायेगा – your site is in “under construction”. 

17- अपने ब्लॉग को अन्य सर्च इंजन के साथ भी submit करें :

आपको अपने ब्लॉग को सभी search engines में submit कर देना चाहिए जैसे – google, yahoo, bing, yendex आदि। इससे आपके ब्लॉग पे organic ट्रैफिक बढ़ेगा। वैसे ये जरुरी नहीं हैं कि आपके ब्लॉग पे ज्यादा ट्रैफिक होना ही चाहिए।

फिर भी गूगल को यह लगना चाहिए कि आपके ब्लॉग पर कुछ आर्गेनिक ट्रैफिक तो आता ही हैं और ज्यादा ट्रैफिक वाले ब्लॉग को अप्रूवल जल्दी मिलने के chance होते हैं। इसलिए अपने ब्लॉग का ट्रैफिक बढ़ाने के लिए other SEO techniques का भी यूज़ करते रहे।

At last :

तो फ्रेंड्स उम्मीद करता हूँ कि अब आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा कि Google Adsense Approve Kaise Kare. अगर आप मेरी इन 17 tricks को ध्यान में रखकर गूगल एडसेंस के लिए अप्लाई करोगे तो आपको एडसेंस का अप्रूवल 100% मिल जायेगा।

अगर फिर भी एडसेंस से रिलेटेड आपको कोई प्रॉब्लम आती है या आपके कोई सवाल हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताये।Thanks for visit here…

आप ये भी जरूर पढ़े:

Leave a Reply